Category: Poetry

Demonetization a success

Demonetisation Deaths Demon -Haiku poem

Wait and watch they said, Hunger helplessness and death, Demonetisation is How many deaths , How many ruins is ok, In Demonetisation They don’t cry for none, Cause it’s not their kin that’s dead, the “Indians” here How many deaths , How many ruins is ok, In Demonetisation   Read: Demonetization was planned  

Continue Reading →

hindi shayri , nadi mein paon

कैसे लोग हो गये हैं ना हम

कुछ दी पहले में छुट्टी बिताने एक नदी के किनारे गया. ऐसा लगा की कुछ अलग सा है. सोचा .. कैसे लोग हो गये हैं ना हम कि नदी में पावं डुबोना भी अब अंजाना सा लगता है और जाते जाते फिर नदी के बहते पानी की कल कल सुनने गया ताकि शहेर की आवाज़

Continue Reading →